प्यार करना सही है या गलत, love is right or wrong in hindi


 प्यार करना सही है या गलत|love right or wrong

Pyar karna sahi hai ya galat
Love right or wrong


 प्यार एक ऐसा विषय है, जिसको लेकर सबकी राय अलग -अलग है । कोई कहता है प्यार करना सही है तो कोई कहता है, प्यार करना गलत है खासकर मिडिल क्लास फैमिलीज में इस विषय पर सबसे ज्यादा  वैचारिक असमानताएं देखी जाती है । इसीलिए आज हम इसी विषय  पर चर्चा करेंगे कि प्यार करना सही है या गलत और सही है तो  कहां तक सही है, और गलत है  तो क्यों गलत  है ।



• जीवन में प्यार का महत्व 

प्यार एक बहुत ही सुंदर एहसास है । जो मनुष्य  की जिंदगी को खुबसूरत बनाता है, मनुष्य की जिंदगी को खुशियों से भर देता है । इतना ही नही प्यार हमारी दुनिया की जरूरत भी है, क्योंकि प्यार के बिना हम एक बेहतर दुनिया की कल्पना भी नही कर सकते, क्योंकि प्यार ही वह पवित्र रिश्ता है जो दुनिया के सभी जीवों को एक सूत्र मे बांधे रखता है, मगर कहते है ना कि हर चीज की एक सीमा होती है । इसी तरह प्यार की भी एक सीमा होनी चाहिए, एक मर्यादा होनी चाहिए वर्ना यही प्यार पागलपन बन जाता है और दुख, गम,और बर्बादी के साथ-साथ कई सारे अपराधों को भी जन्म देता है ।

क्या एकतरफा प्यार सही है ? 

आमतौर पर प्यार तो दोनो तरफ से होता है परंतु एकतरफा प्यार भी गलत नही है क्योंकि कई बार ये हमारे वश मे नही होता, हम दिल के हाथों मजबूर हो जाते है पर सामने वाले को इसके लिए मजबूर करना जरूर गलत है क्योंकि ये जरूरी नही है कि जो जज्बात  हमारे दिल में है वही जज्बात सामने वाले के दिल में हो । कभी ऐसा हो भी सकता है और नही भी हो सकता है मगर हम ऐसा करने के लिए सामने वाले को मजबूर नही कर सकते । हां हम सकारात्मक सोच के साथ कोशिश जरूर कर सकते है और यदि इसके उपरांत भी सफलता ना मिले तो इसे अपनी तकदीर समझ कर भूलना ही बेहतर है ।

Pyar sahi hai ya galat -love right or wrong
Love side effects 


 • प्यार का नकारात्मक प्रभाव ..

आजकल लोगों के मन में एक गलत धारणा बन गई है कि तुम मेरी नही हो तो किसी और की भी नही हो सकती या मैं तुम्हारा नही हो सकता तो किसी और का भी नही हो सकता । जिसके वजह से एसिड अटैक, हत्या,आत्महत्या और अपहरण जैसे समाजिक अपराध बढ़ते जा रहे है । ऐसे लोग अपना जीवन तो बर्बाद करते ही है साथ में दुसरों का जीवन भी बर्बाद कर देते है इसलिए ये प्यार नही है ये अपराध है ।

•  प्यार में धोखा क्यों मिलता है 

आजकल अक्सर लोगों को प्यार में धोखा ही मिलता है और ऐसा इसलिए होता है कि वह सच्चा प्यार होता ही नही है। दरअसल आजकल पुरूष स्त्रियों का सुंदर चेहरा, नशीली आँखे और कातिल अदाएं देख कर प्यार करते है और स्त्रियाँ पुरूषों के स्मार्टनेस और स्टेटस देखकर प्यार करती है, परंतु ये प्यार नही है ये तो महज एक आकर्षक होता है जो कुछ वक्त के साथ खत्म हो जाता है । कुछ लोग तो केवल टाईम पास करने के लिए या अपनी शरीरिक जरूरतों को पूरा करने के लिए एक दूसरे का इस्तेमाल करते है और जब दिल भर जाता है तो साथ छोड़ देते है । कई लोग तो एक साथ एक ही समय में कई लोगों के साथ प्यार का नाटक करते है और ऐसे महापुरुष ही प्यार को बदनाम कर रहे है । हां कभी-कभी ऐसा होता है कि हम जिसे धोखा समझते है वो शायद किसी की मजबूरी होती है ऐसे में अगर आप उसकी मजबूरी नही समझेंगे तो फिर कौन समझेगा ।सच्चे प्यार का अर्थ तो यहीं होता है, दुसरे की खुशी के लिए अपनी खुशी को कुर्बान करना और सच्चे प्रेमी हमेशा यहीं करते है ।


• प्यार का आखिरी पड़ाव ..

प्यार का आखिरी पड़ाव तब आता है जब प्यार तो सच्चा होता है परंतु लड़का या लड़की के परिजन शादी के लिए राजी नही होते है । ऐसे में प्रेमी युगल के मन में बस दो ही ख्याल आते है, एक तो घर से भाग कर शादी करना और दुसरा सुसाइड करना। जो कि बहुत बड़ी गलती है क्योंकि इसके परिणामस्वरूप आप और आपका परिवार किसी भारी मुसीबत में पड़ सकता है और केवल अपने स्वार्थ के लिए पूरे परिवार को दुखी करना कही से भी उचित नही है,क्योंकि प्यार अपनी जगह  है और परिवार अपनी जगह और एक बात और याद रखना इस दुनिया में आपके मां-बाप से  ज्यादा और कोई आपको प्यार नही कर सकता है। आपके मां बाप जो भी करते हैं आपके भले के लिए ही करते हैं। यह बात अलग है कि यह बात आपको बहुत देर से समझ आती हैं।

•  क्या करें जब परिवार प्यार के खिलाफ हो ?

अगर कभी आपको भी ऐसी परिस्थिति का सामना करना पड़े तो आपको बहुत सोच समझ कर फैसला करना चाहिए क्योंकि एक तरफ आपका प्यार होता है और दुसरी तरफ आपके मां-बाप जिनके प्यार का कर्ज कोई नही चुका सकता । हां आप उन्हें उचित तरीके से मनाने का भरसक प्रयास जरूर कर सकते है । हम आपको ये तो नही कहेंगे कि आपको क्या करना है क्या नही  क्योंकि हर बात हर जगह लागू नही होती, परंतु आपको अपने परिवार की खुशी को  किसी भी हाल में नजरअंदाज नही करना चाहिए ।

इसे भी पढ़े : सच्चा प्यार क्या है ,सच्चे प्रेम को कैसे पहचाने


दोंस्तो अगर ये आर्टिकल आपको कैसा लगा हमे कमेन्ट करके जरूर बताये ।

और इस आर्टिकल को अपने दोस्तों-रिश्तेदारों को शेयर करना ना भूलें। और हां आप चाहे तो हमारे साथ FacebookInstagram,Pinterest,Quora और YouTube channel के माध्यम से भी जुड़ सकते हैं।

धन्यवाद 🙏







टिप्पणी पोस्ट करें

1 टिप्पणियां

Thanks for your opinion