Motivational speech in hindi | कामयाबी के शिखर पर पहुंचना चाहते हो तो इसे पढ़ो

motivational speech in hindi for success|motivational speech in hindi for students

motivational-speech-in-hindi-for-success
motivational speech

दोस्तों आपने सुल्तान फिल्म का एक डायलॉग सुना होगा कि कभी-कभी इज्जत पाने के लिए बेइज्जती भी करवानी पड़े है " इसका सीधा-सरल अर्थ यह है कि जीवन में कभी-कभी सफलता पाने के लिए अपमानजनक बातें भी सुनना जरूरी हो जाता है। क्योंकि गरीबी और मजबूरी में जीते-जीते कुछ लोगों की अंतरात्मा इतनी गहरी तन्द्रा में चली गई हैं और उसे साधारण तरीके से नहीं जगाया जा सकता। उसे जागृत करने के लिए उनके दिल पर, उनकी भावनाओं पर चोट करना आवश्यक है। इसलिए आज हम आपके लिए अपने एक ऐसा Motivational speech लेकर आए हैं। जो हमारे स्वाभाविक लेखन से बिलकुल विपरीत है। ‌‌‌‌‌‌‌‌हो सकता है कि इसमें कुछ बातें आपको बूरी लगे परंतु यदि इसे पढ़कर आपके अंदर थोड़ी सी भी चिंगारी भड़क गई तो आपके अंदर कामयाबी की आग लग जाएगी।   


life changing motivational speech in hindi


कुत्ता बहुत ही वफादार होता है। तुम उसके गले में पट्टा डालकर कहीं भी ले जा सकते हो। वह कभी ऐतराज नहीं करेगा कि तुम उसे कहां और क्यों ले जा रहे हो। कुत्ता एक स्वामिभक्त जानवर होता है। तुम उसके आगे बस रोटी के चंद टुकड़े डालते रहो। वह हमेशा तुम्हारे आगे पीछे दुम हिलाता रहेगा। वह कभी तुम्हारा विरोध नहीं करेगा कि तुम उसे भरपेट भोजन क्यों नहीं देते। वह आधा पेट खाकर भी तुम्हारी गुलामी करेगा क्योंकि वह शायद गुलामी के लिए पैदा हुआ है। वैसे कुत्ता बहुत समझदार होता है परंतु होता तो जानवर ही है।


लेकिन तुम जानवर नहीं हो। तुम एक महान इंसान हो। जिसे ईश्वर ने सबसे बेहतरीन बनाया है। तुम वह इंसान हो जिसे ईश्वर ने अनंत संभावनाओं के साथ पैदा किया है। तुम वह चमत्कारी इंसान हो, जिसका दिल और दिमाग असीम शक्तियों से भरा हुआ है। तुम वह अद्भुत इंसान हो जिसकी आंखों में सुनहरे सपने चमकते हैं। जिसके कदमों से कामयाबी की गूंज सुनाई देती है।


मगर अफसोस कि तुमने अपने सपनों को गिरवी रख छोड़ा है। अफसोस कि तुम अपने मजबूत कदमों को मजबूरीयों की बेड़ियों में जकड़ चुके हो। अफसोस कि तुमने अपनी हिम्मत को अपने झुठे बहानों का कवच बना दिया है। और शायद तुम्हारे कानों को गुलामी की ऐसी आदत पड़ चुकी है कि तुम्हें दूर से आती हुए कामयाबी की आहट सुनाई ही नहीं देती। लगता है, तुमने अभी तक अपनी शक्तियों को पहचाना नहीं है इसलिए तुम अपनी आजादी का सौदा कर चुके हो।


शायद तुम भूल चुके हो तुम वही इंसान हो जिसने माउंट एवरेस्ट के माथे पर अपने कदमों के निशां छोड़े है। तुम वही इंसान हो जिसने अपने हौसलों के खंजर से समुंदर का सीना दिया है। तुम वही इंसान हो जिसके भय से इंद्र का सिंहासन भी कांपता है। शायद तुम भूल चुके हो कि अपने भाग्य के विधाता तुम स्वयं हो। इसलिए तुमने कुत्ते की जिंदगी को अपनी जिंदगी समझ लिया है। तुम भूल चुके हो एक कुत्ते और एक इंसान की जिंदगी में कितना फर्क होता है। इसलिए आज तुम कुत्ते की जिंदगी जीने पर मजबूर हो। इसलिए आज तुम्हारे सांसे चंद लोगों की मुट्ठी में कैद है। शायद इसीलिए तुमने अपने सपनों को मजबूरियों के पिंजरे में कैद कर रखा है।


मगर याद रखना अगर तुमने आज इस पिजड़े को नहीं तोड़ा तो सारी जिंदगी मजबूरियों की कैद में घुट घुट कर मरते रहोगे। आज अगर तुमने अपने नाम के आगे से गरीबी का लेबल नहीं हटाया तो सारी जिंदगी गरीबी से संघर्ष करते रह जाओगे। आज अगर तुमने अपने गले से गुलामी के पट्टे को खोलकर नहीं फेंका तो तुम सारी जिन्दगी एक गुलाम ही बन कर रह जाओगे और एक गुलाम और एक कुत्ते की जिंदगी में कोई ज्यादा फर्क नहीं होता। 


तो अगर तुम इस गुलामी से आजाद होना चाहते हो तो पोछ डालो अपने आंसू और बंद करो गरीबी का रोना। बंद करो ऐसे लोगों के पीछे दुम हिलाना जो अपने फायदे के लिए तुम्हारा इस्तेमाल करते हैं। बंद करो ऐसे लोगों के तलवे चाटना- जिन्होंने तुम्हारे सपनों को कैद करके रखा है। बंद करो ऐसे लोगों की खुशामद करना- जो नहीं चाहते कि तुम उनसे आगे निकल जाओ। 


याद रखना इस दुनिया में सिर्फ तुम्हारे मां-बाप ही ऐसे शख्स है जो चाहते हैं कि तुम उनसे ज्यादा कामयाब बनो। बाकी सभी लोग यहीं चाहते हैं कि तुम बस उनके इशारों पर नाचने रहो। मगर याद रखना दूसरे के इशारों पर नाच कर तुम सिर्फ कठपुतली बन सकते हो। राॅकस्टार कभी नहीं बन सकते। दुसरो के बनाए रास्तों पर चल का तुम उनके पीछे जा सकते हो मगर उनसे आगे कभी नहीं निकल सकते।


इसलिए अगर अपने अधूरे सपनों को पूरा करना चाहते हो तो उठो और संघर्ष की भट्टी में कूद जाओ। अगर तुम कामयाबी के शिखर पर पहुंचना चाहते हो तो उठो और अपना रास्ता खुद बनाओ। उन्हें गलत साबित करो जो कहते हैं कि तुमसे ना हो पाएगा। उनको उनके औकात का एहसास कराओ जो बार बार तुमसे तुम्हारी औकात पूछते हैं। तुम बेशक एक काबिल इंसान हो लेकिन अभी तुम्हारी काबिलियत को जंग लगी हुई है इसलिए अब तुम्हें अपनी काबिलियत को साबित करना होगा।


और हां मैं कुत्तों की बहुत इज्जत करता हूं क्योंकि वे जानवर हो कर भी अपना फर्ज बेखुबी निभाते हैं लेकिन अगर तुमने अपने इंसान होने का फर्ज नहीं निभाया तो तुम एक कुते से भी गए गुजरे हो। दिल पर चोट लगी हो तो कमेंट में गाली लिख देना। मगर सफलता के शिखर पर आना जरूर। मैं तुम्हारा इंतजार करूंगा। 


हमारा यूट्यूब वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें: 👉 बदन में सफलता की आग लगा देने वाला मोटिवेशनल वीडियो

दोस्तों आपको यह मोटिवेशनल स्पीच इन हिंदी कैसी लगी। कृपया नीचे कमेंट जरूर करें। पर यदि आप चाहते हैं कि हमारे कोई भी पोस्ट आपसे मिस ना हो तो हमारे ब्लॉग को फॉलो जरूर करें। हां आप हमारे इन सोशल मीडिया अकाउंट्स फेसबुक ,इंस्टाग्राम ,यूट्यूब और टेलीग्राम  के जरिए भी हमारे साथ जुड़ सकते हैं। धन्यवाद 🙏

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ