human body में छिपे हैं ये 10 amazing super powers - आप आश्चर्य चकित रह जायेंगे

scientific fact about the human body

scientific fact about the human body

 human body fact

दोस्तों, आप‌लोगों ने सुपरमैन, स्पाइडर-मैन, आयरनमैन और क्रिश जैसे super heroes की super powers वाली बहुत सारी मुवीज देखी होगी। इन मुवीज को देखते हुए आपके मन में ये ख्याल जरूर आता होगा कि काश ये सुपरपावर्स हमारे अंदर भी होती तो मजा आ जाता। परन्तु यदि हम कहें कि ये सुपर पॉवर्स आपके अंदर पहले से मौजूद हैं तो आप क्या कहेंगे। आप शायद यहीं कहेंगे कि ये तो संभव ही नहीं है। That's impossible. हम जानते हैं कि जब तक हम इस बात को scientific रूप से प्रमाणित नहीं करेंगे। तब तक आपको यकीन नहीं होगा। इसलिए इस आर्टिकल में हम ह्यूमन बॉडी के अंदर छिपी हुई 10 amazing super powers के बारे में बताने वाले हैं। जिन्हें जानकर आप आश्चर्य चकित रह जायेंगे।

10 amazing super powers of human body


10. semen power - वीर्य शक्ति
 
 यह सुपर पावर हमारी सोच से कहीं ज्यादा पावरफुल है। इसकी शक्ति का एक छोटा सा उदाहरण यह है कि केवल 5 मिली वीर्य से 7 अरब इंसानी शरीरों को उत्पन किया जा सकता है। यह हमारे भैतिक शरीर की सबसे पावरफुल एनर्जी है। यूं समझ लीजिए कि समस्त ब्रह्मांड में जो जीवन शक्ति व्याप्त है। वह इसी केमिकल उर्जा का इलेक्ट्रिक रूप है। हमारा शरीर इसी सुपर पावर की उर्जा से निर्मित होता है और अभी भी इसी की उर्जा से एक्टिव हैं। सीमन पावर संसार के सभी जीवित प्राणियों में होता है लेकिन इंसानी शरीर में यह सबसे ज्यादा पावरफुल होता है। सीमन के सुपर पावर अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि यह कभी-कभी हमारे माइंड को भी अपने कंट्रोल में ले लेता है। इसकी उर्जा इतनी पावरफुल होती है कि यह इंसान को एक पल में जानवर बना देती है। शायद आप समझ रहे ह़ो‌गे कि हम ऐसा क्यों कह रहे हैं। एक और राज की बात बताऊं। कुंडलिनी जागरण में इसी उर्जा को ऊपर उठाने की कोशिश की जाती है। अगले विडियो में हम इस पर विस्तार से चर्चा करेंगे। अभी तो बस इतना समझ लिजिए कि यह शक्ति इंसान को भगवान भी बना सकती है।  


9. love power - प्रेम शक्ति

प्रेम शक्ति के मामले में किसी भी अन्य सुपर पावर से कम नहीं है। यह एक ऐसी शक्ति है। जिसके प्रभाव से एक डरपोक इंसान भी अपने जान की लगाने को तैयार हो जाता है। जिसके प्रभाव से एक गरीब इंसान भी लाखों की दौलत ठुकरा देता है। प्रेम की शक्ति से बड़े से बड़े दुश्मन को हराया जा सकता है। भगवान बुद्ध ने प्रेम की शक्ति से बिना शस्त्र उठाएं पूरी दुनिया अपना गुलाम बना लिया था। इसी सुपर पावर के बल पर भक्त प्रहलाद ने भगवान को नरसिंह अवतार लेने को मजबुर कर दिया था। इतिहास गवाह है कि प्रेम की शक्ति ने बड़े-बड़े सूरमाओं और महारथियों को घुटनों पर ला दिया है। अगर कभी आप इस शक्ति के प्रभाव में आएं हैं तो इसकी शक्ति को बेहतर ढंग से समझ सकते हैं।


8. immunity power- प्रतिरक्षा शक्ति

अगर आपसे पूछा जाए कि दुनिया में किस देश का डिफेंस सिस्टम सबसे पावरफुल है तो आपका जवाब रूस या अमेरिका होगा। लेकिन ये दोनों ही ज़वाब ग़लत हैं क्योंकि इस पृथ्वी पर सबसे पावरफुल डिफेंस सिस्टम हमारा शरीर है। आइए जानते हैं कैसे, 
इस हमारे environment में अरबों की संख्या में बैक्टीरिया और वायरस होते हैं। जो हर पल हमारे शरीर को अपना भोजन बनाने की कोशिश में लगे रहते हैं। वे हवा, पानी, और भोजन के जरिए हमारे शरीर में घुसने की कोशिश करते रहते हैं। इन्हीं दुश्मनों से रक्षा करने के लिए प्राकृति ने हमारे शरीर में ब्रह्मांड का सबसे पावरफुल डिफेंस सिस्टम बनाया है। हमारे शरीर के बोनमैरो, थाईमस और व्हाइट ब्लड सेल्स में करीब 300 अरब से ज्यादा सैनिक होते हैं। जो हमारे शरीर में मौजूद दुश्मन बैक्टीरिया और वायरसों को ढूंढ कर मार देते है। हमारे सैनिकों और दुश्मनों के बीच में यह लड़ाई हमेशा चलती रहती है। सबसे अद्भुत बात यह है कि जब ये सैनिक मरते हैं तो इनके सेल्स से इनके जैसे और सैनिक पैदा हो जाते हैं। इसके अलावा हमारे शरीर के बाहरी परतों पर कई अलग-अलग सेंसर लगे होते हैं। जो अलग-अलग तरीके से इन वायरसेस पहचान कर उन्हें मारने की कोशिश करते रहते हैं। यहां हमने एकजामपल के तौर पर बस थोड़ी सी बातें ही बताई है। हमारे इस शरीर का सूपर डिफेंस सिस्टम इतना विशाल और जटिल है कि इसका वर्णन करने में घंटों लग सकते हैं।



7. self-treatment power- आत्म चिकित्सा शक्ति

हमारे शरीर के पास एक सेल्फ ट्रीटमेंट पावर भी है। जो शरीर के क्षतिग्रस्त अंगो को खुद ही ठीक कर लेता है। आमतौर पर लोग यहीं सोचते हैं कि हमारे बिमार शरीर को ठीक करने के लिए दवाओं की जरूरत पड़ती है। लेकिन ये पूरी तरह सच नहीं है। अधिकांश मामलों में दवाओं के द्वारा हमारे शरीर के इम्यूनिटी पावर को बढ़ाया जाता है। ताकि वे अपना काम ठीक से कर सकें। आपने कई बार देखा होगा कि हमारे शरीर के ज़ख्म कुछ ही दिनों बाद अपने आप भर जाते हैं। जब हमारी आंखों में कुछ कचरा पड़ जाता है तो हमारी आंखों में अपने आप आंसु आप जाते हैं। ताकि पानी के साथ कचरा भी बहकर बाहर निकल जाएं।  वैज्ञानिक रिसर्च के अनुसार हमारे शरीर में प्रति मिनट 300 अरब कोशिकाएं नष्ट हो जाती है और उसके स्थान पर 300‌ खरब कोशिकाएं जन्म ले लेती है। और यह प्रकिया लागतार चलती रहती है। पूरे शरीर में केवल दांत ही ऐसे अंग होते हैं जिनके डैमेज्ड होने पर शरीर उनकी रिपेयरिंग नहीं कर सकता।



6. super strength power- अति मानवीय क्षमता

यह हमारे शरीर की एक ऐसी शक्ति है। जो मुश्किल परिस्थितियों में शरीर की पावर को जरुरत के अनुसार बढा देती है। दरअसल हमारे दिमाग को कुछ इस तरह से प्रोग्राम किया गया है कि शरीर के जिस पार्ट को ज्यादा पावर की जरूरत होती है। यह उसी अंग को सबसे ज्यादा पावर सप्लाई करती है। बाॅडी बिल्डिंग में इसी शक्ति पर काम किया जाता है। यानी शरीर के किसी अंग पर धीरे-धीरे प्रेशर डाला जाता है ताकि उस अंग को ज्यादा पावर सप्लाई भेजें और वह अंग खुद को विकसित करके बड़ा कर ले। रियल लाइफ में कई बार ऐसी घटनाएं हो चुकी है। जिसे विज्ञान भी नहीं सुलझा पाया है। 2012 में, वर्जीनिया के में लॉरेन कोर्नैक नाम की एक महिला ने अपने बेटे को बचाने के लिए बीएमडब्ल्यू कार को केवल उठा दिया था। इसी तरह अमेरिका के एरिजोना में टीम बॉयल नाम के एक व्यक्ति ने कार के नीचे फंसे हुए एक लड़के को बचाने के लिए कार को उठा दिया था। वैसे विज्ञान भी इस बात को मान चुका है कि आज तक कोई भी मनुष्य अपनी शारीरिक क्षमता को 100% यूज नहीं कर पाया है।

5. body temperature control - स्वचालित तापमान नियंत्रण

यह हमारे शरीर की एक अनोखी सुपर पॉवर है। आपने देखा होगा कि गर्मी में हमारे शरीर से पसीना छुटने लगता है और सर्दी में हमारे शरीर के रोएं खड़े हो जाते हैं।‌ और ज्यादा सर्दी में हमारे शरीर में कंपकंपी सी होने लगती है। यह हमारे इसी सुपर पॉवर की केमिस्ट्री से होता है। दरअसल हमारे स्कीन के भीतर परत में मौजूद कुछ पावरफुल सेंसर हमारे शरीर को इन्वायरनमेंट के हिसाब से एडजस्ट करने की कोशिश करते है। लेकिन आप चाहे तो इस सुपर पॉवर को एयर कंडीशन की तरह यूज कर सकते हैं। यानी आप अपने शरीर के टेंपरेचर को अपने हिसाब से कंट्रोल कर सकते हैं। बस आपको कुछ दिनों तक प्रैक्टिस और मेडिटेशन करनी होगी। हिमालय रेंज में रहने वाले योगी और तपस्वी माइनस डिग्री टेम्परेचर में इसी सुपर पॉवर का इस्तेमाल करके अपने शरीर को गर्म रखते हैं। अभी नीदरलैंड में वीम हाफ नाम का एक आदमी है जो बर्फ़ के अंदर कई घंटों तक रह सकता है। वो भी बिना कपड़ों के। है ना ये सुपर पॉवर।



 4. third eye power- तीसरी आंख की शक्ति

विज्ञान के अनुसार हमारे शरीर में फाइव सेंस यानि पांच इंद्रियां होती है। आंख, नाक, कान, जीभ और त्वचा। लेकिन इसके अलावा हमारे शरीर में एक और इंद्रि होती है। जिसे तीसरी आंख या थर्ड आई भी कहा जाता है। तीसरी आंख अनेकों अद्भुत शक्तियों का केंद्र होता है। अगर आप अपने थर्ड आई को एक्टिवेट कर लेते हैं तो आपका दिमाग़ पहले से सौ गुना तेज हो सकता है। आप चीजों को आंखें बंद करके भी देख सकते हैं। आप भविष्य में होने वाली घटनाओं को देख सकते हैं। थर्ड आई ब्रह्माण्डीय उर्जा से डायरेक्टली कनेक्ट होता है इसलिए आप थर्ड आई को एक्टिवेट करके अपने शरीर में छिपे और भी बहुत सारे सुपर पावर्स को एक्टिवेट कर सकते हैं। 


3. will power - संकल्प शक्ति

संकल्प शक्ति वह सुपर पॉवर है। जिसके बिना हम किसी भी मुश्किल काम को पूरा नहीं कर सकते। क्योंकि यहीं वह शक्ति है जो किसी काम को करने के लिए इंसान को फोर्स करती है। हमे यह शक्ति हमारी आत्मा से प्राप्त होती है। इसलिए इसे आत्म शक्ति भी कहा जा सकता है। इस शक्ति के द्वारा आप अपने दिमाग को कंट्रोल करके उससे मुश्किल से मुश्किल काम भी करा सकते हैं। विल पावर यानी संकल्प शक्ति के दम पर ही हम बार-बार असफलता होकर भी कोशिश करते रहते हैं। संकल्प शक्ति के द्वारा ही हम जीवन की मुश्किल परिस्थितियों में डटे रहते हैं। यह संकल्प शक्ति की सुपर पॉवर ही है। जो‌ किसी इंसान को माउंट एवरेस्ट पर पहुंचा देती है तो किसी इंसान को चांद पर पहुंचा देती है। आपको क्या लगता है ये सुपर पावर नहीं है।



2. imagination power - कल्पना शक्ति

आज माडर्न साइंस ने जितनी भी प्रगति की है। वह इंसान के इमेजिनेशन पावर की वजह से संभव हो सका है। ये बड़ी-बड़ी बिल्डिंगस, ऐरोप्लेन,बल्ब, रेडियो, टेलिविजन, स्पेश सटल और मोबाइल सहित जितने भी छोटे- बड़े आविष्कार हुए हैं। वह सब इंसान के इमैजिनेशन पावर का ही कमाल है। जरा सोचिए कि ऐरोप्लेन का अविष्कार कैसे हुआ होगा। जरुर किसी इंसान ने उड़ती हुई चिड़ियों को देखकर इमैजिन किया होगा कि काश हम भी आकाश में उड़ पाते। इमैजिनेशन पावर हमारे सबकॉन्शियस मांइड की शक्ति है। हमारा सबकानसियस माइंड जितना शार्प और पावरफुल होगा। हमारी इमैजिनेशन पावर उतनी ही अधिक होगी।



1. mind power - मस्तिष्क शक्ति

हमारा दिमाग हमारे शरीर का सबसे पावरफुल अंग है। रिसर्च के अनुसार हमारे दिमाग में करीब 100 अरब न्यूरान्स होते हैं। हमारा दिमाग इन्हीं न्यूरान्स के जरिए शरीर की संपूर्ण गतिविधियों को कंट्रोल करता है। अगर हम इसके मेमोरी पावर की बात करें तो हमारे दिमाग की मेमोरी अनलिमिटेड है। आप इसके अंदर चाहे जितनी भी जानकारी सेव कर लें। यह कभी फुल नहीं होने वाली। वैज्ञानिकों के अनुसार ब्रह्माण्ड में सबसे जटिल और रहस्यमयी चीज मनुष्य का दिमाग ही है क्योंकि अभी तक विज्ञान भी दिमाग की क्षमता को पूरी तरह से नहीं जान पाया है। हमारा दिमाग इतना स्मार्ट और जीनियस है कि बड़े से बड़ा कंप्यूटर भी इसे परास्त नहीं कर सकता। इसके पास और भी अद्भुत कई शक्तियां है। जिन्हें आप हासिल कर सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको अपने दिमाग को कंट्रोल करना होगा। जो थोड़ा मुश्किल तो है लेकिन नामुमकिन नहीं है।

दोस्तों यहां हमने केवल उन्हीं शक्तियों की बात की है। जो वैज्ञानिक रिसर्च द्वारा प्रमाणित है। इसके अतिरिक्त वैज्ञानिक अभी भी मानव शरीर की के भीतर मौजूद शक्तियों पर अनुसंधान कर रहे हैं। किंतु मानव शरीर के भीतर कितनी सुक्ष्म और अलौकिक शक्तियां छिपी हुई। यह पता लगाना विज्ञान के बस की भी बात नहीं है। अध्यात्म के अनुसार हमारे शरीर में अनंत शक्तियां छुपी हुई है। इन्हें केवल अध्यात्म के द्वारा ही खोजा जा सकता है। 

आपको इसे भी पढ़ना चाहिए - 





दोस्तों आशा करता हूं कि अब आपको यकीन हो गया होगा कि आपके शरीर में कितने सुपर पावर मौजूद हैं। यदि अभी भी आपके मन में कोई प्रश्न हैं तो नहीं कमेंट बॉक्स में प्रकट जरूर करें। हमारे ब्लॉग पर विजिट करने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ